Press "Enter" to skip to content

दिल्‍ली: लॉकडाउन के दौरान मस्जिद पर नमाज पढ़ते पाये गए 1500-1700 लोग & देवबंद मे भी लॉकडाउन की खबर, एक मरीज मिला पॉजिटिव पूरी खबर

दिल्‍ली के बाद देवबंद से भी कार्यक्रम की खबर, एक मरीज मिला पॉजिटिव

राजधानी दिल्‍ली में जिस तरह से तबलीगी जमात का आयोजन किया गया और कोरोना को व्‍यापस स्‍तर पर फैलाने का काम किया गया, कुछ ऐसी ही खबर देवबंद से भी आ रही हैं। हालांकि देवबंद के दारुल उलूम ने भले ही अपने किसी भी सदस्य को दिल्ली की तबलीगी जमात में नहीं भेजा, लेकिन यहां भी एक कोरोना वायरस पॉजिटिव व्यक्ति मिला है।

सूत्रों के अनुसार, इस महीने की शुरूआत में दिल्ली की तबलीगी जमात की तरह देवबंद में आयोजित एक बैठक में एक कश्मीरी समेत 11 लोगों ने हिस्सा लिया था।  यह आयोजन दारुल उलूम से सटे मोहम्मदी मस्जिद में 9 मार्च से 11 मार्च तक आयोजित किया गया था। इस समूह के वापस जाने के बाद कश्मीर के सदस्य का कोरोना वायरस परीक्षण पॉजिटिव निकला।

F.I.R.

सहारनपुर में पुलिस अधिकारियों को तुरंत इसकी सूचना दी गई और इसके बाद पूरी मस्जिद को सील कर दिया गया। जो भी लोग इस समूह के संपर्क में आए थे, वो सभी निगरानी में थे और उन सभी का कोरोना वायरस परीक्षण निगेटिव आया था। हालांकि दारुल उलूम का कोई भी अधिकारी इस बारे में अधिक जानकारी देने के लिए तैयार नहीं था, लेकिन एक सूत्र ने बताया है कि जिन लोगों की स्क्रीनिंग की गई थी, उन सभी को तय समय के लिए आइसोलेशन में रखा गया था।

बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में कोरोना का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। निजामुद्दीन मरकज से मंगलवार तड़के 1033 लोगों को निकालकर अलग-अलग अस्पतालों में पहुंचाया गया है। इनमें 24 कोरोना पाजिटिव हैं 700 को क्वारंटाइन किया गया है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि मरकज बिल्डिंग में जुटे लोगों का सही आंकड़ा नहीं है लेकिन अनुमान है कि इस मरकज में लगभग 1500 से 1700 लोग ठहरे हुए थे, सभी को इस मरकज से निकाल दिया गया है। ये सभी लोग धार्मिक समारोह इज्तिमा में भाग लेने यहां आए हुए थे। तबलीगी जमात का यह भवन छह मंजिला है और इसमें में 2 हजार लोगों के रहने की व्यवस्था है। यह भवन निजामुद्दीन दरगाह से सटा हुआ है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.